Balaghat Express
March 11, 2018   03 : 57 : 43 AM

दो बू΄द जि़न्दगी की..पर स΄कट के बादल

Posted By : Guddusing Gond

बालाघाट (पद्मेश)। राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान का दूसरा चरण ११ मार्च को है जिसके लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यापक तैयारियां की जा रही है। वहीं इस कार्यक्रम में सेवा देने वाले तीन कर्मचारी संगठन हड़ताल पर है जिनमें संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ, न्यू बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ व आशा कार्यकर्ता संघ शामिल है। यह कहे कि ये तीनो ही संगठन हड़ताल पर होने के कारण इनके द्वारा इस कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया गया है जबकि इनमें शामिल अधिकारी कर्मचारियों ने पल्स पोलियों कार्यक्रम में मह

्वपूर्ण योगदान होता है। हड़ताल के कारण यह कार्यक्रम भलीभाति पूर्ण हो पायेगा या कुछ बच्चे पोलियो की खुराक पीने से वंचित हो जायेंगे इसमें असमंजस की स्थिति आ गई है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा इस कार्यक्रम को सफल करने व्यवस्थायें बनायी गई है तथा इसके लिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, पैरामेडिकल कॉलेज में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले तथा रिटायर्ड कर्मचारियों के अलावा अन्य को भी सेवाओं के लिये लगाया जा रहा है। इसी तारतम्य में आज सुबह जिला अस्पताल से पल्स पोलियो जागरूकता रैली निकाली गई थी, जिसको मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज पांडेय द्वारा हरी झंडी दिखाकर प्रारंभ की गई थी। इस दौरान बताया गया कि पल्स पोलियो के दूसरे चरण में एक लाख ८२ हजार बच्चों को पोलियों की दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। शहरी क्षेत्र तथा दसों विकासखंडो में ये दवा पिलाई जायेगी इसके लिये मोबाईल टीम बनाई गई है। इसके अलावा रेल्वे स्टेशन व बस स्टेण्ड में जाकर भी बच्चों को दवा पिलाई जायेगी। कल बूथ लेवल पर होगा तथा दूसरे दिन घर-घर जाकर दवा पिलाई जायेगी। इस कार्यक्रम के लिये हमारी भागीदारी नहीं रहेगी-संजय तुरकर संवदिा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ बालाघाट के उपाध्यक्ष संजय तुरकर ने कहा कि राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के लिये हमारी भागीदारी नहीं रहेगी। विगत १९ फरवरी से उनकी हड़ताल चल रही है। शासन प्रशासन से बार-बार अनुरोध किया गया है लेकिन सरकार ने मांग को पूरा नहीं किया है। श्री तुरकर ने कहा कि वर्ष २०१३ से वे ज्ञापन के माध्यम से शासन को अवगत कराते रहे है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी ऐसे मुकाम पर खड़े है कि उनका भविष्य असुरक्षित है। हम संविदा शब्द को ही मप्र से खत्म करना चाहते है। हमारी मांग है कि हमें लिखित में आदेश दिया जायेगा। शासन के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे-तुरकर ट्रामा सेंटर के पास ही न्यू बहुउद्देशीय स्वास्यि कर्मचारी संघ के कर्मचारी भी विगत कुछ दिनो से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे है। इनके द्वारा भी इस कार्यक्रम में शामिल होने से इनकार किया गया है। इसके संबंध में न्यू बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ बालाघाट के पदाधिकारी आनंद तुरकर ने बताया कि उनकी मुख्यत: दो मांगे है वेतन विसंगति और उनके कैडर के लोग संविदा के जो शासन के तहत कार्यरत है उन्हे भर्ती तिथि से नियमित किया जाये। हमारे संघ से जुड़े ८०० कर्मचारी हड़ताल पर है। श्री तुरकर ने कहा कि कल के कार्यक्रम को लेकर प्रांतीय स्तर पर भी यह पीड़ा जतायी गई थी हम अपने अधिकारों से पीछे नहीं हटेंगे जब तक मांग पूरी नहीं होगी शासन के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। वैकल्पिक व्यवस्था कर ली गई है-सीएमएचओ इसके संबंध में चर्चा करने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज पांडेय ने बताया कि कुछ आशा कार्यकर्ता हमको सहयोग कर रही है आशाओं का बहुसंख्यक तबका हमारे साथ में है जो सेवाये दे रही है। इसके अतिरिक्त पुराने जेएसआर,सीएचवी हमारे रिटायर्ड कर्मचारी, पैरामेडिकल के बच्चों को भी लिया है। वैकल्पिक व्यवस्था कर ली गई है। दवाई वितरण, वाहनों की व्यवस्था कर लिये है। हमें उम्मीद है कि यह कार्यक्रम अच्छे से सफल होगा। श्री पांडेय ने कहा कि जो हड़ताल पर चले गये उनसे ही अपील है गिले शिकवे भूलकर राष्ट्रहित में तथा बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए हमारे साथ में आये। तीन दिन तक पल्स पोलियो का कार्य करे बाकि समस्याओं के लिये बाद में भी लड़ाई की जा सकती है। इसके लिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी लिया गया है। विभिन्न विकासखंडो में बीएमओ ने अपने अपने ढंग से आवश्यक व्यवस्थायें की है। आशा कार्यकर्ताओं ने भी किया कार्यक्रम का बहिष्कार मप्र आशा कार्यकर्ता संघ द्वारा भी अपनी प्रमुख चार सुत्रीय मांगों को लेकर पांच दिवसीय हड़ताल प्रारंभ कर दी गई है। इनके हड़ताल में आशा कार्यकर्ताओं के सथ सहयोगिनी बहने भी शामिल है। इनके द्वारा अपनी मांगो को लेकर आवाज बुलंद करते हुए पल्स पोलियो कार्यक्रम का बहिष्कार करने का आव्हान किया गया है। हड़ताल के दौरान चर्चा करने पर मप्र आशा कार्यकर्ता संघ की जिलाध्यक्ष सुशीला वट्टी ने कहा कि उनके द्वारा आज से हड़ताल प्रारंभ की गई है उनकी हड़ताल १४ मार्च तक रहेगी। प्रमुख मांगों में मानदेय एवं कलेक्टर रेट पर भुगतान, स्वास्थ्य विभाग में संविलियन किया जाये, सेवा अवधि पश्चात २ लाख रूपये देने की व्यवस्था की जाये तथा मृत्यु होने पर उनके परिजनों को ५० हजार की राशि दी जाये। श्री वट्टी ने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं को कई कार्य करने होते है जिले में आशा कार्यकर्ता करीब १६सौ और पैंतिस सौ सहयोगिनी बहने है वे सभी पल्स पोलियो के लिये ड्यूटी नहीं करेंगे बल्कि उनके द्वारा कार्यक्रम का बहिस्कार किया जा रहा है।

संबंधित खबरें

  • March 11, 2018   04 : 00 : 25 AM
  • March 11, 2018   04 : 08 : 21 AM
  • March 11, 2018   04 : 10 : 38 AM
  • March 11, 2018   04 : 18 : 38 AM
  • March 11, 2018   04 : 22 : 49 AM
bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03