Balaghat Express
April 14, 2018   02 : 57 : 30 AM

नोटबंदी और GST दोनों जल्दबाजी भरे कदम : रघुराम राजन

Posted By : Admin

न्यूयॉर्क। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआइ) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत सरकार द्वारा नवंबर, 2016 में नोटबंदी और पिछले वर्ष लागू किए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के फैसलों को जल्दबाजी भरा कदम बताया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से पहले आरबीआइ के गवर्नर के तौर पर उन्होंने सरकार को राय दी थी कि यह अच्छा विचार नहीं था। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी दावा किया कि नोटबंदी का क्रियान्वयन भी सुनियोजित तरीके से नहीं हुआ। उन्होंने दावा किया कि नोटबंदी लागू करने पर सरकार का खर्च सकल घरेलू उत्पाद

जीडीपी) का 1.5-2 फीसद तक है। कैम्ब्रिज के हार्वर्ड केनेडी स्कूल में बोलते हुए बुधवार को राजन ने इस दावे को खारिज कर दिया कि नोटबंदी से पहले आरबीआई की राय नहीं ली गई थी। नोटबंदी पर पहले से सरकार की आलोचना कर रहे राजन ने कहा, "मैंने कभी नहीं कहा कि नोटबंदी पर हमारी राय नहीं ली गई। सच तो यह है कि हमसे राय पूछी गई थी और मैंने सरकार को स्पष्ट कहा था कि यह विचार सुनियोजित, सुविचारित और जरूरी कदम नहीं है। नोटबंदी के सकारात्मक कदम भविष्य में दिखेंगे। मुझे यह भी नहीं पता कि वे महत्वपूर्ण होंगे भी या नहीं। लेकिन मेरे ख्याल से यह उस वक्त के हिसाब से नोटबंदी बिलकुल जरूरी कदम नहीं था।" जीएसटी की दिक्कतें दुरुस्त करना कठिन नहीं- शीर्ष बैंक के पूर्व गवर्नर ने जीएसटी को लेकर भी सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि हालांकि जीएसटी के क्रियान्वयन में हो रही दिक्कतों को दुरुस्त करना मुश्किल काम नहीं है, लेकिन इसे और बेहतर ढंग से लागू किया जा सकता था। उन्होंने कहा कि सरकार इसे और बेहतर तरीके से लागू कर सकती है।

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03