Balaghat Express
June 21, 2018   02 : 34 : 51 AM

कबरबिज्जू को गोली मारी, केंद्रीय मंत्री के आदेश पर जांच शुरू

Posted By : Admin

राजनांदगांव। पुलिस प्रशिक्षण केंद्र (पीटीएस) में वन्य प्राणी कबरबिज्जु (सीवेट) को गोली मारने के मामले में अब जांच शुरू हो गई है। मामले में केंद्रीय मंत्री मेनिका गांधी ने डीएफओ को जांच के लिए आदेश किया है, जिसके बाद वन विभाग में हड़कंप मच गया है। डीएफओ ने तत्काल टीम बनाकर जांच के लिए अफसरों को पीटीएस भी भेजा, लेकिन जवानों ने जांच अफसरों को कोई जानकारी ही नहीं दी। फारेस्ट टीम कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। जांच के बाद कबरबिज्जु को गोली मारने वाले जवानों पर कार्रवाई भी हो सकती है। मा

ला बीते शुक्रवार की रात का है, जब पीटीएस में वन्य प्राणी कबरबिज्जु घूस आया था। वन्य प्राणी को देख जवान हरकत में आ गए। अफरा-तफरी की स्थिति भी बनी। इसके बाद कुछ जवानों ने रायफल से गोली मारकर कबरबिज्जु को मौत के घाट उतार दिया। घटना के बाद कबरबिज्जु के शव को जवानों ने कहां फेंका है? इसकी भी कोई खबर नहीं है। जवानों की मनमानी सामने आने के बाद पीटीएस के उच्च अफसरों ने भी पूछताछ की, लेकिन किसी भी जवान ने सच्चाई उजागर नहीं की। अफसरों की पूछताछ में वो भी जवान खामोश रह गए, जिन्होंने नवा चेतन वेलफेयर सोसायटी रायपुर में शिकायत की है। वन विभाग से जांच शुरू होने के बाद कबरबिज्जु को गोली मारने वाले जवानों में खलबली मची हुई है। केंद्रीय मंत्री ने दिए निर्देश नईदुनिया ने वन्य प्राणी सीवेट को गोली मारने की घटना को प्रमुखता से प्रकाशित किया है, जिसके बाद पीटीएस और वन विभाग के अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है। मामला सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री मेनिका गांधी ने भी जवानों की हरकत को गलत बताया है। उन्होंने डीएफओ को निर्देश देकर मामले की जांच कराने कहा है। केंद्र से आदेश होने के बाद वन विभाग ने जांच की प्रक्रिया शुरू करा दी है। जांच में पहुंचे अफसर केंद्र से निर्देश के बाद वन विभाग ने एसडीओ संदीप बगला को जांच अधिकारी बनाया है। एसडीओ की टीम ने बुधवार को पीटीएस पहुंचकर जांच शुरू की। पहले दिन की जांच में कुछ सामने नहीं आया है। एसडीओ बगला ने बताया कि जांच में अभी कुछ सामने नहीं आया है। जवानों से पूछताछ भी करेंगे। जांच में कुछ बिंदु रखे हैं, जिसके आधार पर ही जांच कर रहे हैं। वन्य प्राणी कबरबिज्जु ही है, जिसे सीवेट भी कहते हैं। शिकायत सही पाई गई तो वन अधिनियम के तहत वन्य प्राणी को मारने के मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अभी कुछ स्पष्ट नहीं केंद्रीय मंत्री ने फोन पर जांच कराने आदेशित किया है। मैंने एसडीओ को जांच के लिए कहा है। अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है। जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट होगा। - मोहम्मद शाहिद, डीएफओ

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03