Balaghat Express
July 16, 2018   02 : 48 : 29 AM

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे कोच को फ्रांस के खिलाड़ियों ने दे दिया ऐसा सरप्राइज

Posted By : Admin

नई दिल्ली। क्रोएशिया को 2-4 से हराकर बीस साल बाद फ्रांस दूसरी बार फुटबॉल का सरताज बना। टीम की जीत के बाद से ही देश में जश्न का माहौल है। इस ऐतिहासिक लम्हे का गवाह बने खिलाड़ी और फ्रांस के कोच डेशचैंप्स की खुशी देखते ही बन रही है। वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद जब फ्रांस के कोच डेशचैंप्स प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे तो किसी ने भी ये नहीं सोचा था कि कुछ देर बाद नजारा बदल जाएगा। वो कुर्सी पर बैठते, उससे पहले फ्रांस के खिलाड़ी वहां पहुंच गए और जमकर धमाल मचाना शुरू कर दिया। कुछ खिलाड़ी तो प्र

स कॉन्फ्रेंस के लिए लगाई गई टेबल पर चढ़ गए तो कुछ ने शैंपेन की बरसात कर दी। जोश में डूबे डिफेंडर बेंजामिन मेंडी इस जश्न की अगुवाई कर रहे थे। वो बिना टी-शर्ट के ही उस कमरे में पहुंच गए जहां प्रेस कॉन्फ्रेंस हो रही थी। इसके बाद भी कोच डेशचैंप्स शांत बने रहे और खिलाड़ियों के शांत हो जाने के बाद टीम की जीत पर खुलकर बोले। डेशचैंप्स के लिए भी ये जीत इसलिए अहम है, क्योंकि उनकी कप्तानी में ही फ्रांस ने 1998 में ब्राजील को 3-0 से हराकर फुटबॉल वर्ल्ड कप जीता था। वो तीसरे ऐसे शख्स बने जिसने बतौर खिलाड़ी और मैनेजर टीम के लिए वर्ल्ड कप जीता हो। इससे पहले ब्राजील के मारिया जैगालो और जर्मनी के फ्रांज बैकनबॉर ऐसा कर चुके हैं। इस मौके पर डेशचैंप्स ने कहा कि, "मेरी कहानी खिलाड़ियों से जुड़ी है, क्योंकि बीस साल पहले मैं खुद इसका गवाह बना था। ये मुझे ता-उम्र याद रहेगा। मगर आज जो खिलाड़ियों ने कि वो वाकई बड़ी उपलब्धि है।" ती गोल की वजह से फ्रांस को बढ़त मिली। इसके बाद 28वें मिनट में पेरिसिच ने गोल दागते हुए क्रोएशिया को बराबरी दिलाई। 39वें मिनट में ग्रीजमैन ने पेनल्टी पर गोल दागते हुए फ्रांस को 2-1 से आगे कर दिया। पोग्बा ने 59वें मिनट में गोल दागा। किलियन एम्बापे ने 65वें मिनट में फ्रांस का चौथा गोल दागा। मारियो मेंजुकिच ने 69वें मिनट में क्रोएशिया का दूसरा गोल बनाया। फ्रांस को कॉर्नर मिला और ग्रीजमैन के कॉर्नर पर क्रोएशियाई पेरिसिच ने हाथ से गेंद को रोका। फ्रांसिसी खिलाडि़यों ने पेनल्टी की मांग की जिसके बाद रैफरी ने वीएआर की मदद से पेनल्टी देने का फैसला किया। 39वें मिनट में ग्रीजमैन ने पेनल्टी पर गोल दागते हुए फ्रांस को 2-1 से आगे कर दिया। पॉल पोग्बा ने 59वें मिनट में शानदार गोल दागते हुए फ्रांस को 3-1 की बढ़त दिलाई। 65वें मिनट में फर्नांडिज ने बॉक्स के कॉर्नर पर एम्बापे को गेंद सौंपी जिन्होंने गोल दागने में कोई गलती नहीं की। फ्रांस 4-1 से आगे हो गया। 69वें मिनट में क्रोएशिया को तोहफे में गोल मिला जब फ्रांसिसी गोलकीपर हुगो लॉरिस की लापरवाही का फायदा उठाते हुए मारियो मेंजुकिच ने उनके सामने से गोल दाग दिया। क्रोएशिया के इस दूसरे गोल के बाद कोई गोल नहीं हुआ और फ्रांस ने 4-2 से यह मुकाबला जीत लिया। फ्रांस को विश्व कप जीतने पर ट्रॉफी के साथ ही 256 करोड़ रुपए और उपविजेता क्रोएशियाई टीम को 159 करोड़ प्रदान किए गए। हैरी केन को गोल्डन बूट (सबसे ज्यादा गोल) प्रदान किया गया जबक‍ि क्रोएशिया के लुका मॉडरिक विश्व कप के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गए। उन्हें गोल्डन बॉल से सम्मानित किया गया। फ्रांस के किलियन एम्बापे विश्व कप के सर्वश्रेष्ठ उभरते खिलाड़ी बने। बेल्जियम के थिबॉट कोर्टियस ने सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर का गोल्डन ग्लोब्ज अवॉर्ड हासिल किया जबकि फेयर प्ले ट्रॉफी स्पेनिश टीम को प्रदान की गई।

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03