Balaghat Express
September 18, 2018   12 : 21 : 04 PM

PM ने काशी को दी 557 करोड़ की सौगात, कहा- तेजी से आगे बढ़ रहा शहर

Posted By : Admin

वाराणसी। अपने जन्मदिन पर दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री मंगलवार सुबह करीब साढ़े दस बजे से बीएचयू पहुंचे। प्रधानमंत्री ने एम्फीथियेटर मैदान में अपने जन्मदिन के रिटर्न गिफ्ट के तौर पर बनारस को 557 करोड़ रुपये के योजनाओं की सौगातें दी। इसके बाद उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए सरकार द्वारा किए गए विकास कार्य गिनाए।प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास के कार्य बनारस शहर ही नहीं, आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं। बिजली, पानी जैसी मूलभूत आवश्‍यकताओं से जुड़ी परियोनाएं तो हैं किसानों

बुनकार की योजनाएं भी शामिल है। बनारस हिंदू विश्विविद्लय को 21 वी सदी का नॉलेज सेंटर बनाने की कई परियोजनाएं शुरू की गई है। फिर यााद दिलाया-हम काशी में जो भी बदलाव लाने की कोशिश कर रहे है, उसमें काशी की परंपराओं-पौराणिकताओं को बचाते हुए किया जा रहा है। पीएम बोले चार सवा चार साल पहले जब काशीवासी बदलाव के इस संकल्‍प लेकर निकले थे, आज अंतर स्‍पष्‍ट दिखाई दे रहा है। सवाल किया-बदलाव नजर आ रहा या नहीं। आज मुझे संतोष है कि बाबा विश्‍वनाथ के आशीर्वाद से वाराणसी को विकास की नई दिशा देने मे सफल हुए हैं। हमने वो दिनभी देखें हैं, जब यहां की व्‍यवस्‍था को देखकर बेहाल दिखता था। यह शहर भी बिजली के उलझे तारों की तरह अव्‍यवस्‍थाओं से उलझा हुआ था। आज काशी में हर जगह परिवर्तन होता दिख रहा है। बिजली की समस्या पर पीएम बोले कि यहां सांसद बनने से पहले बिजली के लटकते तारों को देखकर सोचता था इससे कब मुक्ति मिलेगी। देखिए आज शहर के एक बड़े हिस्‍से से बिजली के लटकते तार गायब हैं। वाराणसी ही नहीं, अासपास के क्षेत्रों को हर पल बिजली मिलने वाली है। एक और बिजली केंद्र के साथ लो वोल्‍टेज की समस्‍या से छुटकारा मिलेगा। वाराणसी को पूर्वी भारत के रूप में विकसित करने का प्रयास हो रहा है। इसके तहत वाराणसी वर्ल्‍ड क्लास की सुविधा से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। आज काशी की सड़कों पर रात में भी मां गंगा का प्रवाह सा दिखता है। एलईडी बल्‍बों से रोशनी तो दिखती है, बिजली के बिल में भी कमी आई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्षोे से बनारस में रिंग रोड की चर्चा हो रही थी, लेकिन काम फाइलों में दबा हुअा था। 2014 में सरकार बनने के बाद रिंग रोड की फाइल को फिर से निकाला गया। लेकिन यूपी की पहले की सरकार ने काम आगे नहीं बढ़ने दिया गया। उनको फिक्र सता रही थी कि यह काम हो गया तो मोदी की जय-जय हो जाएगी!काशी रिंग रोड के निर्माण से सिर्फ काशी ही नहीं, आसपास के जिलों को भी लाभ मिलने वाला है।वाराणसी शहर के भीतर और दूसरे राज्‍यों से जोड़ने वाली सड़कों का विस्‍तार किया जा रहा है। वराणसी में चार साल के दौरान कराए गए विकास कार्यों की पूरी फेहरिस्‍त सुनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वारणसी में हो रहे विकास के गवाह यहां एयरपोर्ट पर आ रहे लोग भी बन गए। टूरिस्‍टों की तादाद लागातार बढ़ रही है। बाबतपुर एयरपोर्ट पर आने वाले की संख्‍या प्रतिवर्ष आठ लाख से बढ़कर 11 लाख हो गई है। यह शहर ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक के बड़े हब के तौर पर उभरने वाला है। पीएम बोले कि सोशल मीडिया पर लोगों को खुशी में वाराणसी कैंट की तस्‍वीर पोस्‍ट करते हुए देखता हूं तो मेरी खुशी दोगुनी हो जाती है। रेल से काशी आने वालों को रेलवे स्‍टेशन पर आते नई काशी के दर्शन हो जाते हैं। इलाहाबाद-छपरा के रेल लाइन दोहरीकरण का कार्य प्रगति पर है। आधुनिक सुविधाओं वाली ट्रेनेों ने भी लोगों का ध्‍यान खींचा है। आज काशी में न सिर्फ आना जाना आसान हाे रहा है। बल्कि इसका सौंदर्य भी निखर रहा है। घाटों पर अब गंदगी नहीं रोशनी स्‍वागगत करती है। पर्यटन से परिवर्तन का अभियान लगातार जारी है। पीएम बोले पिछले चार सालों ने कई देशों के नेताओं का काशी ने अद्भुत स्‍वागत किया है। इन नेताओं ने काशी के आतिथ्‍य को सराहा है। काशी में नए वर्ष की शुरुआत पर दुनियाभर की नजरें होंगी। दुनियाभर में बसे भारतीयों का कुंभ काशी में लगने वाला है। इसके लिए सरकार अपने स्‍तर पर काम कर रही है। लेकिन जनसहयोग जरूरी होगा। एक-एक काशीवासी को आगे आना होगा। हर नुक्‍कड-गली पर काशी का रस और रंग नजर आना चाहिए। प्रवासी भारतीय दिवस में आए लोग ऐसा अनुभव करके जाएं तो दुनिया में हमेशा के लिए काशी के ट्रेंड सेटर बन जाए।

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03