Balaghat Express
September 18, 2018   12 : 23 : 13 PM

रेवाड़ी रेप केस: सामने आई आरोपी निशु की कहानी, पहले भी कर चुका है ऐसी हरकतें

Posted By : Admin

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में 12 सितंबर को सीबीएसई टॉपर से गैंगरेप मामले में पुलिस ने दीन दयाल, संजीव और मुख्य आरोपी निशु को सिविल कोर्ट में पेश किया। इसके बाद कोर्ट ने तीनों को पांच दिनों की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। एसआईटी ने रविवार को वारदात के साजिशकर्ता और मुख्य आरोपी निशु को गिरफ्तार किया था। वारदात में शामिल दो अन्य की तलाश जारी है जिसमें एक आरोपी सेना का जवान पंकज भी शामिल हैं।मुख्य आरोपी निशु का पहले का रिकॉर्ड भी कुछ ठीक नहीं था। निशु एक प्राइवेट स्कूल में बस ड्राइवर था लेक

न उसके खिलाफ छेड़खानी और गलत हरकतों की शिकायतें आईं तो उसे नौकरी से निकाल दिया गया था। स्कूल के मालिक विक्रम सिंह ने कहा कि उन्होंने सिफारिश के बाद निशु को नौकरी पर रखा था और उसके बारे में जानने के लिए घर का दौरा भी किया था। उसका अच्छा-खासा बड़ा घर था जो कि आधे से ज्यादा एकड़ में फैला था। मैं प्रभावित हो गया। उसके पिता और चाचा से भी मिला था। उन्होंने आगे कहा कि नौकरी पर रखने के बाद उसके बारे में शिकायतें आने लगी। इसके दोस्तों ने बताया कि वह महिलाओं से काफी आकर्षित होता है। एक ही सप्ताह में उसके खिलाफ शिकायतें आने लगी थी। वे कहते हैं, 'एक बार एक लड़कियों के ग्रुप ने मुझे उस नंबर पर कॉल किया जो कि बस के पीछे किसी लिखा था। हमने उससे इस संबंध में बात की तो पहले उसने इन्कार किया और फिर स्वीकार कर लिया।'उसके बाद उसे बर्खास्त कर दिया गया। पीड़िता के परिवार ने भी पुष्टि की है कि निशु तीनों आरोपियों में सबसे कुख्यात था। गांववालों को संदेह है कि उसने गांव की और भी लड़कियों के साथ गलत काम किया था लेकिन कोई औपचारिक शिकायत दर्ज नहीं हुई थी। आर्मी कॉन्स्टेबल पंकज की एक साल पहले ही शादी हुई थी, लेकिन इस हरकतों के बाद उसकी पत्नी अपने माता-पिता के साथ रहने चली गई। पीड़िता के परिवार को वह पहले से जानता था। स्पोर्ट्स कोटा के अंतर्गत इस कबड्डी प्लेयर का आर्मी में चयन हुआ था और पीड़िता के पिता ने ही उसे प्रशिक्षण दिया था जो कि एक निजी स्कूल में फिजिकल ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर थे। छुट्टियों के दौरान दीन दयाल के ट्यूबवेल रूम में दोस्तों के साथ वह मिलता था। गांववालों का दावा है कि कारों और मोटरसाइकिल में युवाओं को अक्सर वहां देखा जाता था और लगता था कि कुछ गड़बड़ है। गांववालों को संदेह है कि दीन दयाल को ये लोग रूम के एवज में शराब देते थे और अपराधों में ये भी भागीदार हो सकते है। तीसरा आरोपी मनीष चारों में सबसे छोटा था। स्कूल के गांव में वह सीनियर सेकेंडरी तक पढ़ा और खेत में काम करता था। आरोपी संजीव की जुड़वां बेटियां और एक बेटा है। उसकी गांव में इमेज अच्छी है और लोगों को उससे सहानुभूति है कि गलत समय पर गलत जगह फंस गया।

संबंधित खबरें

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03