Balaghat Express
September 18, 2018   12 : 38 : 21 PM

सौतेली मां-बहन ने प्रॉपर्टी के लिए 6 लाख की सुपारी दे करवाई युवक की हत्या

Posted By : Admin

जबलपुर। सिहोरा निवासी गौरव मिश्रा (30) पिता गिरिजाशंकर मिश्रा की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझाते हुए सोमवार को मामले का खुलासा कर दिया। गौरव की लाश 14 सितंबर को सिहोरा जेल के पीछे स्थित डिस्पोजल फैक्ट्री के नाले के किनारे मिली थी। पुलिस के मुताबिक युवक की हत्या उसकी सौतेली मां और बहन ने ही बसपा नेता को 6 लाख रुपए की सुपारी देकहत्या का मकसद 1.25 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी और पिता की मौत के बाद अनुकंपा नियुक्ति के तौर पर मिलने वाली सरकारी नौकरी को हथियाना था। हत्या की सुपारी लेने वाले आरोपि

ों ने साजिश के तहत पहले फेसबुक पर गौरव से दोस्ती की, फिर उसे पार्टी के बहाने बुलाकर मार डाला। सिहोरा पुलिस ने 5 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, हत्या का मुख्य आरोपित बसपा नेता अब भी फरार है। परिजन ने सौतेली-मां बहन पर जताया था शक एसपी अमित सिंह ने बताया कि 7 सितंबर को गुंजन मिश्रा ने सिहोरा थाने में भाई गौरव के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। उसने बताया कि 6 सितंबर की सुबह गौरव स्लीमनाबाद जाने की बात कहकर घर से निकला था। लेकिन रात तक घर नहीं लौटा। मामले की जांच के दौरान गौरव के परिवार के सदस्यों ने सौतेली मां मधु मिश्रा (48) निवासी जाग्रति नगर गोहलपुर और सौतेली बहन मयूरी मिश्रा (22) पर हत्या कराने का संदेह जताया। इसी दौरान 14 सितंबर को सिहोरा में डिस्पोजल फैक्ट्री के नाले के किनारे गौरव की क्षत-विक्षत लाश बरामद हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह गला घोंटना सामने आया। जिस पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज लिया। मामले की जांच सिहोरा टीआई महेन्द्र सिंह चौहान को सौंपी गई थी। कॉल डिटेल से आरोपितों तक पहुंची पुलिस मृतक गौरव ने मोबाइल से आखिरी बार संदीप कोरी से बात की थी। कॉल डिटेल की इस जानकारी पर परिवार के सदस्य ऐसे किसी व्यक्ति के बारे में बता नहीं पा रहे थे। छानबीन में पता चला कि नंबर पान दुकान संचालक संदीप कोरी (30) का है। जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन वह पुलिस को गुमराह करता रहा। हत्या के आरोपितों में कांग्रेस नेता का पुत्र भी शामि पुलिस पूछताछ में संदीप ने बताया कि कांग्रेस नेता का पुत्र प्रमोद चौधरी (30) निवासी वार्ड नं.1 सिहोरा उसका दोस्त है। प्रमोद ने करीब 3 माह पहले बताया था कि जाग्रति नगर गोहलपुर निवासी एक महिला गौरव मिश्रा की हत्या करने के बदले मोटी रकम देने तैयार है। बसपा नेता भी आरोपित, एडवांस लिए थे 3 लाख आरोपित संदीप ने बताया कि प्रमोद और बसपा लोकसभा प्रभारी बबला उर्फ कुमुद राजभर के साथ जाग्रति नगर गए और मधु मिश्रा से मिलकर गौरव मिश्रा की हत्या का 6 लाख रुपए में सौदा तय किया। मृतक की सौतेली मां-बहन ने आरोपितों को एडवांस के तौर पर आधी रकम 3 लाख रुपए दिए थे। इसके बाद आरोपितों ने योजना बनाकर गौरव से फेसबुक पर दोस्ती बनाई। पहले एक आरोपित ने फेसबुक पर गौरव की पोस्ट को लाइक करके उससे दोस्ती की। फिर एक-एक करके 4 नए दोस्त जुड़ गए। इन नए दोस्तों ने सुनियोजित षड्यंत्र के तहत फेसबुक पर मोबाइल नंबर लेकर गौरव से बार-बार फोन पर बात करके मेलजोल बढ़ा लिया। इस बीच भरोसा दिलाया कि उसके अच्छे-बुरे वक्त में साथ देने वाले वही हैं। जब गौरव को उन पर पूरा भरोसा हो गया तो उसे शराब पार्टी के बहाने उसे बुलाकर आरोपितों सुनसान क्षेत्र में ले गए। जहां प्रमोद, बबला, वीरू ने मिलकर शराब पी और गौरव को गला घोंटकर मार दिया। यह 5 आरोपित गिरफ्तार सिहोरा पुलिस ने गौरव मिश्रा की हत्या के आरोप में संदीप कोरी निवासी सोनम ढाबा के सामने, प्रमोद चौधरी निवासी वार्ड नं.1, वीरू चौधरी (32) निवासी नया मोहल्ला वार्ड नं.1 और सौतेली मां मधु मिश्रा, सौतेली बहन मयूरी मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। वहीं एक आरोपित बबला उर्फ कुमुद राजभर (22) निवासी जाग्रति नगर गोहलपुर अब तक फरार है। शासकीय सेवा में थे मृतक के पिता गौरव के पिता गिरिजाशंकर मिश्रा पशु चिकित्सा विभाग के कर्मचारी थे। वर्ष-2017 में उनकी मौत होने के बाद आश्रित परिवार के किसी एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति मिलनी थी। इसी नौकरी और 1.25 करोड़ की पैतृक संपत्ति के लालच में मधु और मयूरी ने गौरव की हत्या करा दी।र कराई है।

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03