Balaghat Express
December 04, 2018   02 : 43 : 27 AM

Qatar to quit OPEC: ओपेक में दरार की शुरुआत, कतर बाहर

Posted By : Admin

दुबई। तेल उत्पादक और निर्यातक देशों के संगठन ओपेक के सदस्यों में वैचारिक मतभेद सतह पर आ गए हैं और एक तरह से संगठन की दीवार दरकने की शुरुआत हो गई है। भारत को बड़ी मात्रा में गैस की आपूर्ति करने वाले खाड़ी देश कतर ने सोमवार को ओपेक से बाहर होने की घोषणा कर दी और कहा कि वह अगले महीने से इसका सदस्य नहीं रह जाएगा। कतर की शिकायत थी कि सऊदी अरब के दबदबे वाले ओपेक में पिछले कुछ समय से उसे बिल्कुल तरजीह नहीं दी जा रही थी। सोमवार को एक बयान में कतर के ऊर्जा मामलों के मंत्री शाद शेरिदा अल काबी न

कहा कि कतर की भूमिका गैस उत्पादन में है, तेल उत्पादन में नहीं। उन्होंने कहा कि उनका देश यथार्थवादी सोच रखता है और ओपेक में बने रहने की प्रासंगिकता नहीं बची है। उनका देश गैस निर्यात बढ़ाकर 11 करोड़ टन इसके साथ ही वह रोजाना 48 लाख बैरल के अपने कच्चा तेल उत्पादन को 65 लाख टन पर पहुंचाने की कोशिशों में जुटा है। काबी ने कहा कि कतर दुनियाभर में एक विश्वसनीय ऊर्जा आपूर्तिकर्ता के रूप में खुद की पोजीशन को मजबूती देना चाहता है। ऐसे में बदली प्राथमिकताओं और योजनाओं को देखते हुए हमें अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा परिदृश्य में अपनी भूमिका और योगदान की समीक्षा करनी ही थी। ओपेक ने अभी तक इस घटनाक्रम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इसी महीने ओपेक तेल उत्पादन में कटौती संबंधी संभावनाओं पर विचार के लिए बैठक करने वाला है। लेकिन पिछले कुछ समय के दौरान सऊदी अरब ने ओपेक में कतर के खिलाफ एक माहौल बनाया था, जिसमें कई सदस्य देश सऊदी अरब का साथ दे रहे थे। गौरतलब है कि वर्ष 1971 में कतर आजाद हुआ था और उसी वर्ष उसने ऑफशोर नॉर्थ फील्ड की खोज की थी। इसमें गैस का इतना बड़ा भंडार मिला, कि रूस और ईरान के बाद कतर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन गया।

संबंधित खबरें

  • December 04, 2018   02 : 42 : 29 AM
  • December 04, 2018   02 : 44 : 11 AM
  • December 04, 2018   02 : 45 : 14 AM
bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03