Balaghat Express
December 04, 2018   02 : 44 : 11 AM

यूनीलिवर को मिली हॉर्लिक्स की ताकत

Posted By : Admin

नई दिल्ली। दिग्गज एफएमसीजी कंपनी यूनीलिवर ने सोमवार को कहा कि वह ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (जीएसके) के हेल्थ फूड और ड्रिंक्स कारोबार का अधिग्रहण करेगी। कंपनी यह अधिग्रहण 27,737 करोड़ रुपये (3.1 अरब पाउंड) में भारत और 20 से अधिक अन्य बाजारों में कर रही है। ये बाजार मुख्यतः एशिया के हैं और इनमें बांग्लादेश भी शामिल है। इस सौदे के तहत यूनीलिवर की भारतीय इकाई हिंदुस्तान यूनीलिवर लिमिटेड (एचयूएल) शेयरों के लेन-देन के आधार पर ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन कंज्यूमर हेल्थकेयर लिमिटेड (जीएसके सीएच इंडिया) का अध

ग्रहण करेगी। सौदे के लिए जीएसके सीएच इंडिया का कुल कारोबार 31,700 करोड़ रुपये का आंका गया है। जीएसके सीएच इंडिया भारतीय हेल्थ फूड ड्रिंक्स (एचएफडी) बाजार की अग्रणी कंपनी है, उसके पास हॉर्लिक्स और बूस्ट जैसे लोकप्रिय ब्रांड हैं। सौदे की घोषणा करते हुए यूनीलिवर ने कहा कि इसमें एचयूएल और बाजार में सूचीबद्ध कंपनी जीएसके सीएच इंडिया के बीच पूरी तरह से शेयरों पर आधारित विलय और जीएसके बांग्लादेश लिमिटेड में 82 फीसद हिस्सेदारी का अधिग्रहण शामिल है। इसमें भारत से बाहर कुछ अन्य वाणिज्यिक संचालनों और संपत्तियों का अधिग्रहण भी शामिल है। भारतीय बैंकों का आउटलुक स्थिर : मूडीज यह भी पढ़ें एचयूएल ने कहा कि उसके बोर्ड ने जीएसके सीएच इंडिया के शेयरों के लेन-देन पर आधारित विलय के लिए मंजूरी दे दी है, जिसके तहत जीएसके सीएच इंडिया के प्रत्येक शेयर के लिए एचयूएल के 4.39 शेयर आवंटित किए जाएंगे। यूनीलिवर के प्रेसिडेंट (फूड एंड रिफ्रेशमेंट) नितिन परांजपे ने कहा कि हॉर्लिक्स ब्रांड की दुनियाभर में एक विरासत, साख और विश्वसनीयता है। इस अधिग्रहण से हमारे फूड्स और रिफ्रेशमेंट कारोबार को हेल्थ फूड्स ड्रिंक्स श्रेणी में प्रवेश करने में मदद मिलेगी, जिससे हेल्थ और वेलनेस में हमारी स्थिति और मजबूत हो जाएगी। एचयूएल के चेयरमैन और सीईओ संजीव मेहता ने कहा कि इस रणनीतिक विलय के साथ कंपनी दमदार ब्रांड्स के जरिए अपने उत्पादों का विस्तार एक नई श्रेणी में करेगी और अपने ग्राहकों की पोषण संबंधी जरूरतों की पूर्ति करेगी। उन्होंने कहा कि उनके फूड्स एंड रिफ्रेशमेंट्स (एफएंडआर) कारोबार का आकार 10,000 करोड़ रुपये से ज्यादा हो जाएगा और देश का एक सबसे बड़ा एफएंडआर कारोबार बन जाएगा। Qatar to quit OPEC: ओपेक में दरार की शुरुआत, कतर बाहर यह भी पढ़ें एचयूएल सीएफओ श्रीनिवास पाठक ने कहा कि अभी कंपनी का एफएंडआर कारोबार करीब 2,400 करोड़ रुपये का है। जीएसके की सीईओ एमा वाम्स्ले ने कहा कि हॉर्लिक्स ने दशकों से जीएसके और भारतीय ग्राहकों के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण योगदान किया है। यूनीलिवर इसकी कारोबारी क्षमता बढ़ाने के लिए योग्य कंपनी है। इस सौदे से होने वाली आय का उपयोग समूह की रणनीतिक प्राथमिकताओं में किया जाएगा, जिसमें उसका फार्मास्यूटिकल कारोबार भी शामिल है। जीएसके ने कहा कि सौदे के तहत उसके ओटीसी और ओरल हेल्थ ब्रांड का वितरण एचयूएल करेगी, जो अभी जीएसके इंडिया करती है। हालांकि यह व्यवस्था पांच साल के लिए ही होगी। Gold Silver price: सोने में 390 रुपये की तेजी, चांदी की कीमत में भी इजाफा यह भी पढ़ें इन ब्रांडों में क्रोसिन, ईनो और सेंसोडाइन शामिल हैं। कंपनी ने कहा कि यह विलय जीएसके इंडिया और एचयूएल के शेयरधारकों तथा कर्जदाताओं की मंजूरी मिलने पर निर्भर है। दोनों कंपनियों के प्रमुख शेयरधारक जीएसके और यूनीलिवर ने विलय के पक्ष में मतदान करने की मंशा जाहिर की है।

संबंधित खबरें

  • December 04, 2018   02 : 42 : 29 AM
  • December 04, 2018   02 : 43 : 27 AM
  • December 04, 2018   02 : 45 : 14 AM
bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03