Balaghat Express
October 05, 2017   01 : 42 : 49 AM

का΄ग्रेसियो΄ ने एसडीएम को सौ΄पा ज्ञापन

Posted By : Raju Pacheswar

वारासिवनी (पद्मेश)। वारासिवनी-खैरलांजी क्षेत्र में वैनगंगा नहर से सिंचाई के लिए पानी दिया जाता है एवं अनुविभागीय अधिकारी सिंचाई उपसंभाग वारासिवनी द्वारा मेण्डकी बाईफरकेसन से गर्रा नहर एवं डोंगरमाली नहर का १५-१५ दिन का रोटेशन पानी वितरण के लिए बनाया गया है लेकिन डोंगरमाली खण्ड की नहरों से किसानों को खरीफ की धान की फसल की सिंचाई के लिए पानी नही मिल रहा है जिससे कृषक बेहद परेशान है। वारासिवनी-खैरलांजी पूर्व विधायक, जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल के नेतृत्व में कांग्रेसी एवं क

षक ४ अक्टूबर को एसडीएम कार्यालय पहुंचकर एसडीएम केसी बोपचे को ज्ञापन सौंपकर डोंगरमाली खण्ड में पानी छोडऩे की मांग की है एवं मांगे पूर्ण नही होने पर किसानों के साथ मिलकर चक्का-जाम करने की बात कही। जिस पर एसडीएम श्री बोपचे ने कांग्रेसी पदाधिकारी एवं कृषकों को आश्वास्त किया है कि गुरूवार से उक्त नहर में पानी छोड़कर कृषकों को सिंचाई के लिए पानी दिये जाने की बात कही। कांग्रेसी एवं कृषकों ने बताया कि इस वर्ष अल्पवर्षा हुई है जिसके कारण कई क्षेत्रों में रोपाई कार्य भी नही हुआ है जिन्होने रोपाई की है उन्हे उक्त फसल को पकाने के लिए नहरों से सिंचाई हेतु पर्याप्त पानी नही मिल रहा है और फसल पकने में तैयार है महज एक पानी की आवश्यकता है ऐसी स्थिति में डोंगरमाली खण्ड के किसानों को विगत १९ दिनों से पानी नही मिला है जिससे फसल खराब होने की स्थिति में है जिसके कारण कृषक चिङ्क्षतत नजर आ रहे है। आगे बताया कि अनुविभागीय अधिकारी सिंचाई उपसंभाग वारासिवनी द्वारा मेण्डकी बाईफरकेसन से गर्रा नहर एवं डोंगरमाली नहर का १५-१५ दिन का रोटेशन पानी वितरण के लिए बनाया गया है जिसके अनुसार १६ सितंबर से ३० सितंबर तक गर्रा नहर में पानी दिया गया और मेण्डकी से डोंगरमाली खण्ड की सभी नहरे बंद रही जिसके बाद १ अक्टूबर से डोंगरमाली खण्ड की नहरों को पानी मिलना था किन्तु मेण्डकी बाईफरकेसन में पानी का गेज कम होने के कारण किसानों को सिंचाई के लिए पानी नही मिल रहा है ऐसी स्थिति में डोंगरमाली नहर १९ दिनों से बंद है जिससे कृषक चिङ्क्षतत है कि फसल पकने की कगार में है लेकिन पानी वितरण में संबंधित विभाग हिला-हवाली एवं भेंदभाव कर रहा है जिसके कारण फसले अच्छी स्थिति मेें होने के बावजूद खराब हो सकती है। कांग्रेसी एवं कृषकों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर डोंगरमाली खण्ड के नवेगांव एवं भेण्डारा सिंचाई संस्था के अंतर्गत आने वाले ग्राम के नहरों में पानी छोडऩे की मांग की है, मांगे पूर्ण नही होने पर किसानों के साथ मिलकर चक्का-जाम कर आंदोलन किये जाने की बात कही है। मांग करने वालों में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल, खैरलांजी ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष गोकुलप्रसाद गौतम, नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विवेक विक्की एड़े, जिला पंचायत सदस्य सेवकराम सुलाखे, टीकाराम सुलाखे, जनपद सदस्य प्रतिनिधि विजय नगपुरे, सरपंच प्रतिनिधि चिन्नी बघेले, राजेन्द्र नगपुरे, महामंत्री विनोद मिश्रा, युवा बिग्रेड अध्यक्ष मिलिन्द नगपुरे, दिनेश चिखले, नत्थुलाल मसकरे, मोनू लिमजे, अशोक मिश्रा, रिंकु चापुकर, भुवन लोहार, जसवंत पटले सहित अन्य कांग्रेसी कार्यकर्ता एवं कृषकगण मौजूद रहे। मांगे पूर्ण नही होने पर करेगें आंदोलन - प्रदीप जायसवाल पद्मेश से चर्चा में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल ने बताया कि फसल को अंतिम दौर में पानी की आवश्यकता होती है लेकिन डोंगरमाली खण्ड नहर से किसानों को सिंचाई के लिए पानी नही मिल रहा है, सिंचाई विभाग के नियमानुसार १ अक्टूबर से पानी मिलना था लेकिन डोंगर माली केनाल से पानी नही आ रहा है जिससे कृषकों की फसल खराब हो सकती है। श्री जायसवाल ने बताया कि सांसद, विधायक को किसानों की कोई चिंता नही है, भाजपा के शासनकाल में सभी वर्ग परेशान है एवं नहर से पानी नही मिलने से ४० ग्रामों के कृषक चिंतित है, डोंगरमाली खण्ड में पानी नही छोड़ा गया तो किसानों के साथ मिलकर चक्का-जाम एवं आंदोलन किया जायेगा जिसकी जवाबदारी शासन-प्रशासन की होगी। इनका कहना है डोंगरमाली खण्ड में एक क्युबी मीटर पानी बह रहा है जिससे किसानों को सिंचाई के लिए पानी नही मिल रहा है, आज नहर में ५ क्युबी मीटर पानी छोड़ दिया जायेगा। केसी बोपचे एसडीएम वारासिवनी

संबंधित खबरें

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03