Balaghat Express
October 05, 2017   02 : 22 : 02 AM

विद्यार्थियो΄ ने मॉडल प्रस्तुत कर विज्ञान का किया प्रदर्शन

Posted By : Sagar

वारासिवनी (पद्मेश)। नगर के वारासिवनी बालाघाट मार्ग पर स्थित टिहलीबाई शास.उत्कृष्ट विद्यालय में ३ अक्टूबर से जारी दो दिवसीय विकासखण्ड स्तरीय विज्ञान मेला का ४ अक्टूबर को समापन किया गया। यह कार्यक्रम सेवानिवृत्त अभियंता जेडी बोरकर के मुख्य आतिथ्य एवं शास.उ.मा.विद्यालय गर्रा प्राचार्य शैलेन्द्र गुप्ता की अध्यक्षता में प्रारंभ हुआ। यह मेला म.प्र. शासन एवं स्कूल शिक्षा राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद नई दिल्ली के प्रायोजन तथा राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान जबलपुर के संयुक्त

त्वाधान में आयोजित गया जिसमेें २९ प्रदर्शो के माध्यम से ३३ छात्र-छात्राओं ने मॉडल तैयार का विज्ञान का प्रदर्शन प्रस्तुत किया साथ ही पर्यावरण गीत प्रतियोगिता में ६ प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया और एक विज्ञान नाटिका के माध्यम से छात्र छात्राओं ने उपस्थितजनों का मन मोह लिया। इस दो दिवसीय विकासखण्ड स्तरीय विज्ञान मेले में शासकीय उ.मा.वि. कायदी, कन्या नेहरू शासकीय क.उ.मा.वि.,वारासिवनी एवं मेला संयोजक संस्था टिहलीबाई शास.उत्कृष्ट विद्यालय वारासिवनी शामिल हुए । उक्त प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका मुकेश जुझार कृषि विस्तार अधिकारी वारासिवनी, डॉ. भानुप्रताप राहांगडाले वारासिवनी एवं श्री ज्ञानेन्द्र पटले ने किया। इस मेले में दो प्रतियोगिताएं गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शिनी एवं पश्चिम भारत विज्ञान मेला शामिल थे। इस मेले में निर्णायको ने विभिन्न उपकथानकों के तहत् बनाये मॉडलों का अवलोकन कर अपने निर्णय निम्नानुसार दिये जो शास.म.ल.बा.क.उ.मा. विद्यालय बालाघाट में आगामी १२, १३ अक्टूबर को आयोजित जिला स्तरीय मेला प्रतियोगिता में विकासखण्ड का प्रतिनिधित्व करेगें। कायदी के प्राचार्य एल.सी.मानवटकर ने कहा कि प्रत्येक शिक्षक व छात्र विज्ञान के क्षेत्र में अपना योगदान दे तथा जिला स्तरीय विज्ञान मेले में प्रदर्शों में यथोचित सुधार कर विकासखण्ड वारासिवनी का नाम रोशन करने की बात कही। मेला संयोजक एवं टिबा. उत्कृष्ट वि. प्रभारी प्राचार्य टीके गौतम ने कहा कि राष्ट्र का भविष्य छात्र छात्राओं पर निर्भर है आज का छात्र कल का वैज्ञानिक है इसलिए हम सभी शिक्षकों का दायित्व है कि इन्हें अच्छी शिक्षा दें। पद्मेश से चर्चा में विज्ञान शिक्षक पंचम हनवत ने बताया कि ६ उपकथानक पर बच्चों के द्वारा मॉडल तैयार कर प्रस्तुत किया गया है इस विकासखण्ड विज्ञान मेले में तीन संकुल के छात्र-छात्राएं शामिल हुए और २९ मॉडल प्रस्तुत किये जिसमें तीन मॉडलों का चयन किया गया जो जिला स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होगें। श्री हनवत ने बताया कि शासन की मंशा है कि बच्चे विज्ञान गतिविधि से विज्ञान की ओर आकर्षित हो, विज्ञान को समझे, थिम प्रयोग एवं निष्कर्ष प्रस्तुत कर सके। इनका हुआ चयन इस दो दिवसीय प्रतियोगिता में ें उपकथानक स्वास्थ्य एवं स्वस्थ रहना में प्रथम हेमेन्द्र बोरकर एवं द्वितीय स्थान कु. रुतिका जैन टि.र्बा. शा. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी तथा तृतीय स्थान श्रेया बुर्डे क.ने.शास.क.उ.मा.वि. वारासिवनी ने प्राप्त किया, इसी तरह उपकथानक संसाधन प्रबंधन एवं खाद्य सुरक्षा प्रथम स्थान निलय ऐडे, द्वितीय स्थान महेन्द्र मानेश्वर एवं तृतीय स्थान शशांक रोकडे टि.र्बा. शास. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी, उपकथानक अपशिष्ट प्रबंधन एवं जलाशयों का संरक्षण के अंतर्गत प्रथम स्थान सुधांशु माहुले, द्वितीय स्थान पर चित्रांश चौरसिया टि. र्बा. शा. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी तथा तृतीय स्थान कु. प्रिया गौतम क.ने.शास.क.उ.मा.वि. वारासिवनी, उपकथानक परिवहन एवं संचार के अंतर्गत प्रथम स्थान पर टि. शा. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी के छात्र जितेन्द्र तुरकर रहे। उपकथानक डिलिटल एवं तकनीकी समाधान के अंतर्गत प्रथम स्थान गगन बिसेन तथा द्वितीय स्थान उत्सव राउत टि. शा. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी , उपकथानक गणितीय प्रतिरुपण के अंतर्गत प्रथम स्थान संगम पटले एवं तृतीय स्थान जतिन भौतेकर टि. शा. उत्कृष्ट वि. वारासिवनी तथा द्वितीय स्थान कु. स्वाती चंदनलाल क.ने. शास.क. उ.मा.वि. वारासिवनी ने प्राप्त किया। पश्चिम भारत विज्ञान मेले में एकल प्रोजेक्ट के अंतर्गत टि.बा.शा.उत्कृष्ट वि. वारासिवनी से प्रथम सोहम कावडे, द्वितीय कु. प्रिंसी आचरे, तृतीय कु. प्राची देवारे, चतुर्थ स्थान कु. रोशन परते एवं पंचम स्थान कु. निधी शरणागत रही। परिणामों की अगली कड़ी टीम प्रोजेक्ट के अंतर्गत प्रथम स्थान कु. वर्षा सिंहमारे व रानी रणदिवे तथा द्वितीय स्थान पर कु. अंजली राहंगडाले व कु. आंचल मेश्राम टि.बा.उत्कृष्ट वि. वारासिवनी, तृतीय स्थान पर क.ने. शास.उ.मा.वि.वारासिवनी की छात्रा कु. मुस्कान रहांगडाले व मुस्कान खान ने प्राप्त किया एवं चतुर्थ स्थान पर शा.उ.मा.वि. कायदी के छात्र वैभव मंदरेले व मोहित गौर ने प्राप्त किया। विज्ञान मेले का मुख्य आकर्षण विज्ञान नाटिका स्वच्छता एवं पर्यावरण में आठ प्रतिभागियों ने अपनी विज्ञान कला का प्रदर्शन कर प्रथम स्थान शास.उ.मा.वि. कायदी ने प्राप्त किया है। ये रहे उपस्थित दो दिवसीय विकासखण्ड स्तरीय विज्ञान मेले में मंच संचालन संस्था की व्याख्याता श्रीमती सी.के. मंडलेकर व यूरेन्द्र हनवत प्रधान पाठक के द्वारा किया गया। इस अवसर पर शिक्षिका श्रीमती डी. रहांगडाले, एस.एस. सैय्याम,, श्रीमती मनीषा हरिनखेडे, श्रीमती वाय. ऐडे, श्रीमती सातदेवे, पी.डी. बाहेश्वर, श्रीमती के. टेम्भरे, श्रीमती एम. टेम्भरे, श्रीकांत आम्बेकर, शैलेन्द्र तिलगाम, कु. मिनाक्षी टेंभरे, कु. राखी पारधी, कु. करुणा ठाकरे, कु. अनिता पारधी, कु कल्पना, श्रीमती तिवारी, के.एल मर्सकोले, ओ. पी. बारेवार, श्रीमती माया चौधरी, एस.उइके, श्रीमती एस. कातरे अमित गजभिये का विशेष योगदान रहा।

संबंधित खबरें

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03