Balaghat Express
October 05, 2017   02 : 54 : 49 AM

सर्विस सेक्टर ने दिए सुधार के संकेत, सितंबर महीने में PMI 50.7 पर पहुंचा

Posted By : Admin

नई दिल्ली (जेएनएन)। सितंबर महीने में भारत की सेवा क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों की गतिविधियों में असर दिखा है। ऐसा इसलिए क्योंकि मांग में सुधार हुआ है और कंपनियों में भर्ती प्रक्रिया को बीते छह सालों में सबसे तेज करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। एक बिजनेस सर्वे में गुरुवार को यह जानकारी सामने आई है। निक्केई इंडिया का सर्विस पर्चेजिंग मैनेजर इंडेक्स सितंबर महीने में बढ़कर 50.7 पर आ गया, अगस्त महीने के दौरान यह 47.5 पर रहा था। आपको बता दें कि इंडिया के सर्विस सेक्टर पीएमआई का 50 (न्यूट्रल

्तर) ने अगस्त महीने के दौरान इससे नीचे का स्तर, जिसकी प्रमुख वजह 1 जुलाई 2017 को लागू हुआ वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) रहा। पीएमआई सर्वे के मुताबिक काम के भारी दबाव ने रोजगार सृजन की गुंजाइश पैदा की। इस रोजगार दर का औसत जून 2011 के बाद का सबसे मजबूत रहा है। आईएचएस मार्किट की अर्थशास्त्री और इस सर्वे की लेखिका आशना डोधिया ने बताया, “भारत के निजी क्षेत्रों ने इसी साल जुलाई महीने में जीएसटी लागू होने के बाद अपनी खोई हुई जमीन वापस पाने में सफलता पाई है क्योंकि सेवा प्रदाताओं ने विनिर्माण उद्योग का विकास किया है।” देश के सेवा क्षेत्र ने उत्पादन और नए ऑर्डर में मामूली विस्तार दर्ज कराया है। बीते साल केंद्र सरकार की ओर से लिए गए नोटबंदी के फैसले ने एशिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था की रफ्तार को मंद कर दिया था। अप्रैल-जून तिमाही के दौरान देश की जीडीपी 5.7 फीसद के स्तर पर आ गई थी। लेकिन बीते महीने मांग में आई तेजी के कारण गतिविधियों में तेजी आई है।

bgt 04

आज का वीडियो

bgt 03